किसानों और गरीबों की विरोधी है भाजपा : अखिलेश यादव

लखनऊ। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी ने गरीबों के आगे बड़ने के सारे अवसर छीन लिए हैं। भ्रष्टाचार असीमित है और भाजपा को समाजवादी सरकार के कामों से चिढ़ है। भाजपाई किसानों और गरीबों के विरोधी हैं। समाजवादी सरकार के जनहित के कामों को बदनाम करके बंद किया गया है।  अखिलेश यादव ने पार्टी कार्यालय लखनऊ में राष्ट्रीय निषाद संघ राम के सचिव लोटन निषाद और अति पिछड़ा वर्ग संघ के अध्यक्ष डॉ. राम सुमिरन विश्वकर्मा के प्रतिनिधि मंडलों एवं सैकड़ों कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि हमारी लड़ाई राजनीतिक है, सवाल यह है कि नेतृत्व कौन करेगा? अर्थनीति की दिशा क्या होगी? योजनाओं की प्राथमिकताएं क्या होंगी? केंद्र सरकार के पांच बजट और प्रदेश सरकार के दो बजट के बाद भी इनका उत्तर नहीं मिल पाया है। जनता यह मानती है कि भाजपा ने उनको धोखा दिया है। भाजपा जातिवादी पार्टी है। भाजपाइयों को आदर्श आचार संहिता और संविधान की परवाह नहीं है। उत्तरप्रदेश के हालात बद से बदतर हो गये हैं, जनता बेहाल है। असली झगड़ा अधिकारों और अवसरों का है। भारतीय जनता पार्टी विपक्षी दलों से शत्रुतापूर्ण व्यवहार कर रही है।
विकास के लिए जो बुनियादी ढांचा विकसित किया गया। भाजपा सरकार ने 14 माह में ही सब बर्बाद कर दिया। अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा मतदाताओं पर 50 प्रतिशत तक पकड़ बनाने का दावा कर रही है जबकि समाजवादी 75 प्रतिशत तक पकड़ बनाएंगे। लोकतंत्र में सत्ता का घमण्ड चूर करने की ताकत जनता के पास है। अखिलेश यादव ने कहा कि सन् 2019 और 2022 निर्णायक अवसर हैं।

Related posts

Leave a Comment