पुलिस की पिटाई से घायल बरेली के मीट कारोबारी की दिल्ली के अस्पताल में मौत, हंगामा

बरेली। पुलिस की पिटाई से गंभीर रूप से घायल मीट कारोबारी की दिल्ली के निजी अस्पताल में मौत हो गयी। उसकी मौत की खंबर सुनकर परिवार में कोहराम मच गया। परिजनों ने शव को थाने के सामने रखकर प्रदर्शन किया।

थाना बारादरी के सक्लैन नगर निवासी मोहम्मद सलीम उर्फ मुन्ना कुरैशी की दिल्ली में इलाज के दौरान मौत हो गई। मौत की खबर मिलते ही लोग सलीम उर्फ मुन्ना कुरैशी के घर के बाहर इक्ट्ठा होने लगे। गुस्साए लोगों ने शव को थाना बारादरी के सामने रखकर प्रदर्शन किया जिससे शहदाना चौराह पूरी तरह जाम हो गया। भीड़ को देखकर पुलिस के हाथ पांव फूल गये। मौके पर पहुचे सीओ नीतिन द्विवेदी ने आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर कार्यवाही का आश्वासन दिलाकर मामले को शांत कराया तब लोगों का गुस्सा शांत हुआ और जाम हट सका।

क्या है मामला

बता दें कि बारादरी के सकलैन नगर निवासी मोहम्मद सलीम उर्फ मुन्ना क़ुरैश पर प्रतिबंधित मीट बेचने का आरोप लगा था, जिसके बाद से ही उसे पुलिस परेशान कर रही थी मुन्ना क़ुरैश की कांकर टोला पुलिस चौकी के पास मीट की दुकान है। 14 जून को बारादरी थाने का दरोगा अली मियां जैदी और सिपाही अंजुम शादी हॉल पहुंचे वहां मुन्ना नही मिला उन्होंने मुन्ना को पूछताछ के लिए बुलाया और मुन्ना की मां से पूछताछ करने लगे। इसी दौरान मुन्ना भी मैरिज हाल में आ गया उसके पहुंचते ही दरोगा और सिपाही गोवंशीय पशुओं की तस्करी करने और काटने का आरोप लगाते हुए मुन्ना की पिटाई शुरू कर दी। जिससे मुन्ना की हालत बिगड़ गई। उसे खून की उल्टी आ गई। इसके बाद दरोगा और सिपाही उसे छोड़कर फरार हो गए। मुन्ना को फौरन स्टेडियम रोड स्थित एक निजी अस्पताल ले जाया गया जहां स्व उसे भोजीपुरा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया, हालत नाजुक होने पर दिल्ली रेफर कर दिया गया था। जहां गुरुवार सुबह को मुन्ना क़ुरैश की मौत हो गई। परिवार वाले मुन्ना की मौत की वजह पुलिस द्वारा पिटाई होना बाता रहे हैं। आखिरकार कांकरटोला चौकी इंचार्ज अली मियां जैदी पर एक्शन हो गया है। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने सीओ की रिपोर्ट के बाद आरोपी दरोगा को सस्पेंड कर दिया।

रोते बिलखते परिजन

Related posts

Leave a Comment