पीलीभीत में नहीं टूटा ज़िला पंचायत का कॉम्प्लेक्स, वापस लौटी प्रशासन की टीम

पीलीभीत। ज़िला पंचायत के काम्प्लेक्स को ढहाने पहुंची ज़िला प्रशासन की टीम शाम ढलते ढलते वापस लौट गई। नगर मजिस्ट्रेट व नगर पालिका परिषद की अधिशासी अधिकारी के नेतृत्व में पालिका कर्मचारियों की टीम इस विवादित कॉम्प्लेक्स को तोड़ने पहुंची थी। इस दौरान किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए भारी संख्या में पीएसी व पुलिस बल भी तैनात कर दिया गया था। मगर घटनाक्रम ने अचानक उस समय मोड़ ले लिया जब ज़िला पंचायत के अधिवक्ता के हाई कोर्ट से स्थगनादेश मिलने के दावे के चलते ज़िला प्रशासन ने अपने कदम पीछे खींच लिए और शाम ढलते ढलते कॉम्प्लेक्स को बिना तोड़े टीम वापस लौट गई जिसके चलते नगर में चर्चाओं का बाज़ार गर्म है।

गौरतलब है कि शहर के बीचों बीच पुराने सरकारी अस्पताल की खाली पड़ी ज़मीन को ज़िला पंचायत ने अपने कब्जे में लेकर दुकाने बना डालीं और उनका आवंटन भी कर दिया था। तत्कालीन ज़िला पंचायत अध्यक्ष पर ये इल्ज़ाम लगते रहे हैं कि उन्होंने नगर पालिका परिषद की मिलीभगत से करोड़ों की इस जमीन पर कब्ज़ा करके दुकानें बनाकर नीलाम कर दीं जबकि नगर के बीचो बीच स्थित यह ज़मीन ज़िला पंचायत के अधिकार क्षेत्र में ही नही आती है।

Related posts