स्वास्थ्य मंत्री के औचक निरीक्षण से हड़कंप, तीन अधिकारी सस्पेंड

बरेली। ज़िले में फैले खतरनाक बुखार से लगातार हो रहीं मौतों को लेकर नगर के अस्पतालों की व्यवस्थाओं का जायजा लेने के बरेली पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने लापरवाही का ठीकरा नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अशोक कुमार, जिला मलेरिया अधिकारी पंकज जैन तथा जगतपुर पीएचसी प्रभारी डॉ श्वेता भारद्वाज पर फोड़ते हुए निलंबित कर दिया। उन्होंने मौतों के लिये जिला मलेरिया की लापरवाही मानते हुए जांच के आदेश दिए हैं। साथ ही जल्द ही कोई ठोस परिणाम नही निकलने पर सीएमएस पर कार्यवाही के संकेत दिए हैं।

औचक निरीक्षण से ज़िला अस्पताल में मचा हड़कंप

प्रदेश के स्वास्‍थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह और वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल के औचक निरीक्षण से ज़िला अस्पताल में हड़कंप मच गया बिना कार्यक्रम के अस्पताल पहुंचे स्वास्‍थ्य मंत्री को देख डाक्टरों की हवाईयां उड़ गईं। सूचना पर सीएमओ और सीएमएस भी पहुंच गए। जिला अस्पताल की अव्यवस्थाओं को देख कर भड़के स्वास्थ मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने लगाई जमकर फटकार लगाई। इसके बाद स्वास्‍थ्य मंत्री ने मरीजों और तीमारदारों से बात की। इस मौके पर अस्पताल परिसर व वार्डों में जानवर व गंदगी को उन्होंने नाराजगी जताते हुये मौके पर मौजूद मुख्य चिकित्सा अधीक्षक समेत अन्य अधिकारियों से जल्द से जल्द व्यवस्थाओं को सुधारने की बात कही। वही उन्होने मरीज़ो से उनसे अस्पताल में मिल रही सुविधाओं के बारे में पूछा। सीएमओ से डाक्टरों के आने का समय और ड्यूटी के बारे में जानकारी ली। वही बीच-बीच में होती रही लीपापोती वही अस्पताल में अव्यवस्थाओं पर अस्पताल प्रशासन को जमकर हड़काया। औचक निरीक्षण के बाद स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि

आज प्रदेश के अस्पतालों में डॉक्टर्स और स्टाफ की कमी है उसके बावजूद हम बेहतर सेवा उपलब्ध करवा रहे हैं। आगे और भी कई सुविधाएं लेकर हम जनता के सामने आएंगे। आज के निरीक्षण में मौके पर कई कमियां मिली हैं। जिन्हें दुरुस्त कराये जाने के निर्देश दिये गये हैं।

Related posts