कैंडल मार्च निकाल लोगों ने अधिवक्ता सफी हुसैन के लिए मांगा न्याय

  • शार्ज़िल ज़ैदी

बरेली/सेंथल। अधिवक्ता सफी हुसैन की मौत के मामले में सेंथल वासियों और आस-पास के गांव के लोगों ने कैंडल मार्च निकाल कर प्रशासन से न्याय की गुहार लगाई है।प्रदर्शनकारियों ने आरोपियों के खिलाफ सख्त करवाई करने की मांग की है। ने न्याय नहीं मिलने पर आंदोलन की चेतावनी दी।

कैंडल मार्च निकालते नगरवासी व मृतक अधिवक्ता सफी हुसैन का फ़ाइल फ़ोटो

गौरतलब है कि बीती 28 सितम्बर को अधिवक्ता सफी हुसैन ने अपनी पत्नी की बेवफ़ाई और सुसराल वालों की प्रताड़ना से परेशान होकर आत्महत्या कर ली थी। सुसराल वालों ने मौत का कारण हार्ट अटैक बताया था जिसका राज़ 7 दिन बाद घर की साफ सफाई में मिले सुसाईड नोट और पैन ड्राइव व मैमोरी कार्ड से खुला था। बाद में सफी हुसैन की पत्नी सहर फात्मा ससुर मोहम्मद सलीम सास बबली और सोनू रिज़वी पुत्र ज़ामिन हुसैन निवासी थाना किला के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। उसके बाद मजिस्ट्रेट के रूप में तैनात किए गए तहसीलदार नवाबगंज और पुलिस की मौजूदगी में शव को कब्र से बाहर निकाल कर पोस्टमार्टम कराया गया। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अधिवक्ता सफी हुसैन की मौत का कारण स्पष्ट नही हो पाया था। अब अधिवक्ता सफी हुसैन की मौत के आरोपियों की 14 दिन बाद भी गिरफ्तारी नहीं होने से नगरवासियों रोष व्याप्त है।

कैंडल मार्च निकालते नगरवासी

इस सम्बंध में नगरवासियों ने कैंडल मार्च निकाल कर अधिवक्ता सफी हुसैन की मौत के आरोपियों की गिफ्तारी की मांग की। कैंडल मार्च फौजुल्ला मार्केट मुख्य चौराहे से शुरू हुआ जो हज़रत चिराग अली शाह की मजार पर खत्म हुआ। आखिर में तंज़ीम ज़ैदी उर्फ़ सन्नी व भाजपा नेता मुकेश शर्मा ने आरोपियों की जल्द ही गिरफ्तारी न होने पर सड़क पर उतकर आंदोलन करने की चेतावनी दी है। कैंडल मार्च में फहीम हुसैन, ज़ैदी, जौहर अब्बास, शारिफ हुसैन, अकबर वास्ती, जाफर ज़ैदी, मुकेश शर्मा, राहुल गुप्ता, मेहदी रज़ा, अनुपम पंडित, इरफ़ान अहमद, नज़ीम हुसैन, गुड्डू, आसिफ ज़ैदी, अहमर हसनैन, मगन ज़ैदी, अविनाश मिश्रा, जतिन जोशी सहित सैकड़ो की तादात में लोग मौजूद रहे।

Related posts