पीलीभीत : प्रशासन ने शहर में जाने रोकीं गन्ने से लदी ट्रालियां, लगी 5 किमी लंबी लाइन

  • विनय सक्सेना

पीलीभीत। प्रशासन की सख्ती व लापरवाही के कारण गन्ना किसानों की समस्याएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। होली के मद्देनजर प्रशासन ने गन्ना किसानों की गन्ने से भरी ट्रालियां शहर से बाहर ही रोक दी हैं। जिससे कई किलोमीटर लंबी लाइनें लग गईं हैं। हाईवे पर गन्ने से भरी ट्रालियों की लंबी कतारों से जहां किसान परेशान हैं वहीं दूसरे ट्रैफिक को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

होली से ठीक एक दिन पहले जब गन्ना किसान अपनी ट्रालियों में गन्ना भरकर पीलीभीत की एल.एच. शुगर फैक्ट्री में ले जा रहे हैं ताकि जल्द से जल्द गन्ना फैक्ट्री पहुंचाकर अपने घर जाकर होली मना सकें। लेकिन पुलिस ने प्रशासन के आदेश का हवाला देकर उनकी ट्रालियां देवहा नदी के पुल के पास ही रोक दीं। जिक कारण हाईवे के एक साइड में ट्रालियों की लंबी लाइन लग गयी। यह लाइन ललौरीखेड़ा तक लग गयी है। घंटों से लाइन में लगे किसानों परेशान हैं। सुबह से भूखे ये किसान शाही सिकलपुर, मगरासा, जतीपुरा, सीपुरिया, कल्याणपुर, सैजना, इनायतपुर आदि गांवों से हैं। आक्रोशित किसान परेशान हैं उन्हें यह समझ मे नहीं आ रहा कि आखिर उन्हें रोका क्यों गया है। सुबह 8 बजे से परेशान एक किसान कहते हैं

सुबह 8 बजे से लाइन में लगे हैं। प्रशासन को एक भी ट्राली को आगे नही जाने दे रहा है। सुबह से हम भूखे बैठे हैं। यहां न खाने की भी कोई व्यवस्था नहीं है। हमे कल होली भी मनाना है। हम यहीं फंसे रहेंगे तो कब फैक्ट्री जाएंगे और कब अपने घर वापस होने?

खबर लिखे जाने तक ट्रालियों को शहर में जाने की इजाजत नही दी गयी थी। लेकिन देहवा पुल पर इन ट्रालियों को शहर में जाने से रोकने वाला दरोगा और सिपाही गायब हो चुके थे।

देखें वीडियो

Related posts