अखिलेश ने जनेश्वर मिश्र की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण, अमित शाह के बहस की चुनौती पर किया पलटवार

 समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव बुधवार को जनेश्वर मिश्र पार्क पहुंचे। जहां उन्होंने जनेश्वर मिश्र की 10 वीं पुण्यतिथि के मौके पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। वहीं अखिलेश के साथ धर्मेंद्र यादव, रामगोविंद चैधरी, अहमद हसन, सीएल वर्मा, राजपाल कश्यप सहित हजारों की तादाद में कार्यकर्ता मौजूद रहें। जनेश्वर मिश्र की प्रतिमा पर माल्यापर्ण करने के बाद अखिलेश यादव ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि उत्तर प्रदेश और भारत की धरती पर भगवान कृष्ण समेत तमाम महापुरुष ने जन्म लिया है। जो भाषा राजनीति में इस्तेमाल हो रही है, ये राजनीति करने वालों की भाषा नहीं हो सकती है। ठोक दिया जाएगा या जबान खींच ली जाएंगी, ये सब राजनीति की भाषा नहीं हो सकती है। वहीं सीएए को लेकर हम अकेले विरोध नहीं कर रहें हैं, बल्कि हर वो व्यक्ति कर रहा है, जो इसको समझ रहा है। मुझे खुशी है कि इस विरोध में महिलाओं ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया और नौजवानों ने भी हिस्सा लिया।’ देश के नागरिकों के साथ भेदभाव का विरोध हर नागरिक कर रहा है। भारतीय जनता पार्टी संविधान से विरोध इसलिए कर रही है, क्योंकि उसके पास राजनीति की ताकत है। सीएए पर अमित शाह के बहस की चुनौती पर अखिलेश यादव ने पलटवार करते हुए कहा कि हम अमित शाह की चुनौती को स्वीकार करते हैं, वह जगह तय कर लीजिए, हम विकास पर बहस करने को तैयार हैं। बता दें कि मंगलवार को लखनऊ में सीएए के समर्थन में रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने अखिलेश यादव, राहुल गांधी और ममता बनर्जी को सीएए पर बहस करने की खुली चुनौती दी थी। लेकिन अखिलेश यादव ने सीएए पर नहीं, बल्कि विकास पर बहस करने की बात कही है।आगे कहा कि देश बेरोजगारी में बुरी तरह से फंस गया है। इतने बड़े पैमाने पर बेरोजगारी कभी नहीं आई होगी। अगर यही हालात रहें तो बेरोजगारवाद की भी संख्या बढ़ जाएगी। अब तो किसान के बाद नौजवान भी आत्महत्या करने लगे हैं। अर्थव्यवस्था, नौकरी, नोटबंदी के सवाल पर बहस नहीं करना चाहते हैं वे, इसलिए हम चाहते हैं कि विकास पर बहस करें। अखिलेश यादव ने कुशीनगर में पुलिस पर हमला करते हुए कहा कि एक पेंटर को गांजा लगाकर पुलिस ने भेज दिया था। जितनी भीड़ कल उनकी जनसभा में थी, अगर हम समाजवादी छात्र सभा से कह दें तो उससे ज्यादा जगह भर देंगे। सामाजवादी पार्टी ने जो गोमतीनगर में कर के दिखाया वो भाजपा कर के नहीं दिखा सकती है।