कांग्रेस दिल्ली में नए सिरे से अपने को तैयार करेगी – सुरजेवाला

दिल्ली चुनावों के नतीजों पर रणदीप सिंह सुरजेवाला ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली की जनता ने अपना जनादेश दे दिया है। दिल्ली की जनता ने वो जनादेश कांग्रेस पार्टी के विरुद्ध भी दिया है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से हम दिल्ली की जनता के इस जनादेश और इस संदेश को सिर झुकाकर विनम्रता से स्वीकार करते हैं।

कांग्रेस पार्टी को नए सिरे से, जमीनी स्तर से दोबारा मजबूत करने का संकल्प आज और सुदृढ़ हमारे मन में हुआ है। कांग्रेस के कार्यकर्ता और साथी, कांग्रेस के वो सारे नेता, जिन्होंने असीम मेहनत इस चुनाव में की, चाहे हमें कामयाबी नहीं मिली, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से हम उनका भी धन्यवाद करते हैं और कांग्रेस के और दिल्ली के साथियों को आश्वस्त करते हैं कि एक सजग विपक्ष के तौर पर दिल्ली के ढांचागत विकास, दिल्ली की पानी, बिजली, सड़क, कानून व्यवस्था की समस्या, बेरोजगारी, अर्थव्यवस्था की बदहाली, उस पर भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेता नजर भी रखेंगे औऱ दिल्ली की जनता की आवाज को आगे बढ़ाते रहेंगे।

चुनाव की हर हार एक नई सीख है, ऐसा हम मानते हैं। इस हार से हमें इस बात का अहसास जरुर हुआ कि हमें जनादेश नहीं मिला, पर कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेताओं में निराशा नहीं, एक नया संकल्प है नवनिर्माण का, जमीनी स्तर से लेकर, आगे बढ़ने का और उस नव निर्माण के संकल्प के साथ एक बार फिर एक बेहतरीन दिल्ली का नक्शा लेकर हम अपना कार्य करते रहेंगे।

आज जो नतीजे आए हैं, आम आदमी पार्टी की जीत दिल्ली में हुई है। हम इस मंच से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की ओर से और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से श्री अरविंद केजरीवाल जी को शुभकामनाएं देते हैं। दिल्ली में अगले पांच साल शासन के लिए और सकारात्मक सहयोग और आलोचनात्मक भूमिका और एक पैनी नजर हम तीनों बनाए रखेंगे, ये भी हम दिल्ली के लोगों से वायदा करते हैं।


जैसा आज रणदीप जी ने कहा, कांग्रेस हारी है, हताश नहीं है। जो हमारे अंदर क्षमता थी, हमने पब्लिक के सामने अपने विचार रखे, 15 साल के दिल्ली के कार्यों के बारे में बताया, और मैं समझता हूँ कि जितना विकास, जो हमारे शासन में, कांग्रेस के शासन में दिल्ली में हुआ, ये उसके बारे में कल्पना भी नहीं कर सकते थे, क्योंकि जनता का जनादेश है, वो कामयाब हुए। 3,192 करोड़ रुपए के विज्ञापन के अंदर खर्चा करके वो पब्लिक के बीच में गए, उनको दर्शाया कि क्या-क्या अच्छा काम हुआ है और पब्लिक ने उसे स्वीकारा, लेकिन सच्चाई ये है कि दिल्ली के अंदर जो असली विकास, मेट्रो फ्लाई ओवर जितने भी काम हुए, कांग्रेस शासन ने किए थे।

लेकिन पिछले दो महीने-तीन महीने के अंदर, मुझे तीन महीने हुए अध्यक्ष बने, तीन, साढ़े-तीन महीने कांग्रेस ने जनता की आवाज उठाई है। सच्चाई ये है दिल्ली की दुर्दशा हुई है, खासकर बच्चों के प्रति, चाहे वो जामिया यूनिवर्सिटी के बच्चे, जो लाईब्रेरी में पढ़ रहे थे, उनके ऊपर अत्याचार हुआ, चाहे वो जेएनयू यूनिवर्सिटी है, यहाँ पर बाहर के गुंडे आकर, मास्क पहनकर बच्चे-बच्चियों के साथ दुर्व्यवहार करते रहे, पिटाई करते रहे, चाहे वो अब गार्गी कॉलेज है। हमारे बच्चे अपने कैंपस, कॉलेज के कैंपस के अंदर सेफ नहीं है, तो कहाँ है केन्द्र की सरकार? कहाँ है, गृहमंत्रालय? कहाँ था दिल्ली का मुख्यमंत्री?

हम लोग संघर्ष करते आए, हमने आवाज उठाई, चाहे कोई मुद्दा था, चाहे महंगाई का मुद्दा, चाहे बच्चों के ऊपर अत्याचार का मुद्दा, हर तरह से हमने आवाज उठाई, लेकिन जिस तरह से दिल्ली के अंदर पोलराइज करने की कोशिश की गई दोनों पार्टिंयों द्वारा, काफी हद तक वो कामयाब हुए। बीजेपी ने पूरी कोशिश की कि दिल्ली के अंदर केन्द्रीय गृहमंत्री घर-घर गए वोट मांगने के लिए। दिल्ली के अंदर कौन से 200 मेम्बर पार्लियामेंट, दिल्ली के अंदर बैठ गए, लेकिन नतीजा भाजपा को भी अगर ये सोचे कि वो बहुत बड़ी जैसे उनके अध्यक्ष क्लेम कर रहे थे कि हमारी 48 सीटें आएंगी, 45 सीटें आएंगी, वो दर्शाता है कि दिल्ली की जनता क्म्यूनल फोर्सेस के साथ नहीं हो सकती।

आज जो कांग्रेस, जैसे हमारे नेता राहुल जी ने कहा कि सबसे बड़ा देश के अंदर मुद्दा है आर्थिक मंदी का, सबसे बड़ा मुद्दा है, अनएंप्लायमेंट का। हम अपने बच्चों के हित की रक्षा के लिए, जिस तरह से वो बेरोजगार हैं, जिस तरह से वो दर-दर भटक रहे हैं रोजगार पाने के लिए, हम उनके साथ, कांग्रेस पार्टी उनके साथ खड़ी थी, खड़ी है और खड़ी रहेगी।

मैं इतना ही कहता हूँ कि मैं शुक्रगुजार हूँ, धन्यवाद करता हूँ, अपनी पार्टी के वर्कर्स का, आपने पार्टी के दिल्ली के सभी लीडर्स का, जिन्होंने भरपूर प्यार, भरपूर सम्मान और भरपूर साथ दिया, मैं इसके साथ-साथ कीर्ती जी का और मेरे भाई, पीसी चाको जी का भी धन्यवाद करना चाहूँगा कि हर तरह से उन लोगों ने मुझ सहयोग दिया ये संघर्ष का समय है, जैसे रणदीप जी ने कहा कि हम लोग हारे जरुर हैं, लेकिन हम संघर्ष से उठे हुए लोग आए, संघर्ष करते आए हैं और संघर्ष करते रहेंगे और दिल्ली की जनता को ये विश्वास दिलाते हुए कि हम आपके हित की रक्षा के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं और फिर एक बार दिल्ली की जनता का जनादेश जो आया है।

उसके सामने शीश झुकाता हूँ और उनको विश्वास दिलाता हूँ कि जो अच्छे काम होंगे सरकार के साथ हम उनकी मदद करेंगे, लेकिन दिल्ली के अंदर बेहाली के खिलाफ संघर्ष करने की हमारी जो भूमिका रहेगी, उस भूमिका को हम निभाते रहेंगे, चाहे वो किसी भी तरह की महंगाई का मुद्दा हो, या दूसरे मुद्दे हों, या दिल्ली के अंदर डेवलपमेंट का मुद्दा हो, कांग्रेस जनता के लिए संघर्ष करती आई है और करती रहेगी, इन्हीं शब्दों के साथ आपका धन्यवाद।