मंदिर की तरह मस्जिद के लिए भी ट्रस्ट बनाकर आर्थिक मदद करे सरकार

राजधानी में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी उत्तर प्रदेश द्वारा एक सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस सम्मेलन में एनसीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार लखनऊ पहुंचे। वहीं बड़ी संख्या में पार्टी के कार्यकर्ता और पदाधिकारी भी कार्यक्रम में शामिल हुए। उत्तर प्रदेश में 2022 के होने वाले विधानसभा चुनाव में अब एनसीपी पार्टी ने आज लखनऊ में अपनी ताकत दिखाई। जिसमें सैकड़ों कार्यकर्ता एनसीपी के महासम्मेलन में शामिल हुए। इस बार यूपी 2022 में होने वाले चुनाव में एनसीपी पे अपने प्रत्याशियों को चुनाव लड़ाने की बात कही। साथ ही कहा हम पूरे उत्तर प्रदेश में अपनी पार्टी को स्थापित करेंगे। राष्ट्रीय महामंत्री साथी एनसीपी के बडे नेता प्रफुल्ल पटेल राष्ट्रीय महामंत्री व पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार भी इस सम्मेलन में शामिल हुए। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने आरोप लगाया कि केंद्र व राज्य की भारतीय जनता पार्टी की सरकारें लोगों को मजहब के आधार पर बांट रही हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाकर आर्थिक सहायता दी जा रही है। वैसे ही मस्जिद बनाने के लिए ट्रस्ट बनाकर आर्थिक सहायता प्रदान की जाए। शरद पवार बुधवार को लखनऊ के रवींद्रालय में आयोजित राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के राज्य प्रतिनिधि सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विपक्ष की सभी पार्टियों को मिलकर भाजपा के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरना चाहिए। वहीं पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री प्रफुल्ल पटेल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हमने महाराष्ट्र में चुनाव लड़ने को लेकर सपा बसपा व अन्य दल को साथ लेकर काम करने का काम किया। हम चाहते हैं कि हम सभी दल अगर एक विचारधारा के साथ काम करें तो हम भारतीय जनता पार्टी को रोक सकते हैं। उन्होंने सीएए, एनआरसी को लेकर कहा सीएए, एनआरसी एक ही चीज के दो पहलू हैं। सीएए का कानून तो बन चुका बन है। मगर कानून को अमल में लाना होगा तो एनआरसी होगी। अभी तो हमारा सीएए, एनआरसी और एनपीआर जो भी हो उसमें सरकार की जो गलत मनसा दिख रही है। इसके सख्त खिलाफ हैं।