कोरोना वायरस के चलते आगे आये मुस्लिम संगठन

बरेली। कोरोना वायरस के चलते आगे आये मुस्लिम संगठन ने भी लोगों से सरकार का सहयोग करने के अपील की है। उधर ऑल इंडिया तंन्जीम उल्मा-ए-इस्लाम ने मुसलमानों से मस्जिदों में नमाजियों की संख्या कम करने और सफाई रखने की अपील कर लाकँ-डाउन का पालन करने और सरकार व डाक्टरों की सलाह पर अमल करने की हिदायत दी है।
सुन्नी बरेलवी मुस्लिम धर्म गुरु और तन्जी़म के महासचिव मौलाना शहाबुद्दीन रज़वी ने कहा कि कोरोना वायरस के प्रकोप के दौरान मस्जिदों से बिल्कुल ला-तालूक होना दुरूस्त नहीं है बल्कि मुक्मल ऐहतियात बरतने के साथ 5 वक्त की नमाज़ पढ़ें और दुआ मांगने का सिलसिला जारी रखे वा भीड़ जमा न होने दे और ऐसे वक्त में जो जहाँ है वही ठहरा रहे एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने से बचें। फर्ज नमाज़ मस्जिद में पढकर वापस घर आये बाकि नमाज़े घर पर ही पढ़ें। मस्जिदों को मुकम्मल बन्द न करें। कोरोना वायरस से बचने के लिए खूब दुआ मांगे। मस्जिदों के सिलसिले में ये बात जहन में रखे की वहां साफ़ सफाई का खास़ ख्याल रखे और ज्यादा लोग जमा न हो और घर से वजू करके मस्जिद में जाये। अल अंसार सोशल मूवमेंट ऑफ इंडिया के सदर ताजुद्दीन अंसारी ने कहा कि लोग बेवजह घर से न निकलें। घर पर रहें। सरकार की जिम्मेदारी तमाम आवाम की होती है और सरकार ने लोगों को भीड़ से बचने के लिये जनता कर्फ्यू , लॉक डाउन जैसे कदम उठाकर एक एहतियाती कदम उठाया है जो बेहतर कदम है और अवाम को चाहिए कि वह सरकार के उठाये कदमों पर अमल करके सहयोग करे।