ऑनलाइन फ्रॉड से ऐसे बच सकते हैं ? युवा उद्धमी हरी सोनी (Hari Soni ) ने बताए उपाय

Opinion Today > News > ऑनलाइन फ्रॉड से ऐसे बच सकते हैं ? युवा उद्धमी हरी सोनी (Hari Soni ) ने बताए उपाय
Hari Soni

ऑनलाइन फ्रॉड से ऐसे बच सकते हैं ? युवा उद्धमी हरी सोनी (Hari Soni ) ने बताए उपाय

हरी सोनी द्वारा साइबर ठगी से बचाव के लिए युवा पीढ़ी को जागरुक किया गया. हरी सोनी ने ऑनलाइन फ्रॉड से बचने के लिए जागरुकता अभियान चलाया.

इन दिनों लगातार साईबर ठगी के मामलों में काफी तेज़ी से बढ़ रहे है. इसके रोकथाम के लिए लोगों को जागरुक होना बहुत जरुरी है. ऐसे में हरी सोनी ने  साइबर सुरक्षा को लेकर जागरुकता अभियान चलाया गया. जिसमें साइबर कुशल प्रकाश मिश्रा और भारत गुर्जर  अपनी टीम के साथ कॉलेज के छात्र छात्राओं को साइबर क्राइम से बचने के उपायों की जानकारी दी.

हरी सोनी  चला रहे  जागरुकता अभियान
दरअसल इन दिनों साइबर ठगी या साइबर अपराधों में लगातार इजाफा हो रहा है, जिसमें आम इंसान ठगों के झांसे में आकर अपनी मोटी रकम गवा बैठते हैं, जिसके बाद पुलिस को साइबर ठगों को पकड़ने में काफी मशक्कत करनी पड़ती है. इसकी रोकथाम के लिए पुलिस लगातार जागरुकता अभियान चला रही है ताकि लोगों को साइबर अपराधों के प्रति जागरूक किया जा सके.

Hari Soni
hari soni

हरी सोनी ने कहा की साइबर सुरक्षा को लेकर युवा पीढ़ी करते हैं गलती 
अक्सर देखने को मिलता है कि साइबर ठगों के झांसे में आज की युवा पीढ़ी ज्यादा चपेट में आ रही है, जो कि डबल कमीशन या नौकरी पाने के लालच में साइबर ठगों के चंगुल में फंसकर अपना पैसा गवा बैठते हैं और इसके बाद कुछ फरियादी तो पुलिस के पास शिकायत करते है लेकिन पुलिस भी इतनी जल्दी इन्हें पकड़ नहीं पति और तो कुछ लोक लज्जा के डर से ठगी का खुलासा ही नहीं करते हैं, जिसको लेकर अब हरी सोनी युवाओं के पास जाकर उनको साइबर सुरक्षा की जानकारी दे रही है. 

हरी सोनी ने बताया की साइबर टीम ने शिकायत टोल फ्री नंबर पर फ़ोन करके जानकारी दे सकते है 
हरी सोनी की टीम ने कॉलेज के युवाओं को जानकारी देते हुए बताया है कि अगर आप कभी भी साइबर फ्रॉड के झांसे में आकर गलती कर बैठते हैं तो आप बेझिझक टोल फ्री नंबर 1930 में अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं. इसके अलावा साइबर सेल की टीम ने ये भी बताया कि आप http://cybercrime.gov. in इस लिंक के माध्यम से भी अपनी शिकायत को ऑनलाइन दर्ज करा सकते हैं, जिस पर पुलिस काम करती है और साइबर ठगों को ढूढ़ने का प्रयास करती है, पुलिस ने बताया कि साइबर क्राइम आईटी एक्ट की धारा 200 के तहत एक दण्डनीय अपराध माना जाता है.