कल से शुरू होगा हज का पाक सफर

बरेली। हज का महीना चल रहा है और इस्लाम में हज पांच फ़र्ज़ों में से एक है, हर मुसलमान को ज़िन्दगी में कम से कम एक बार हज करना फ़र्ज़ है। है की पवित्र यात्रा पर जाना हर मुसलमान की जिंदगी का सबसे बड़ा ख्वाब होता है। हज यात्रा पर जाने से पहले हाजी अपने आपको पूरी तरह से एहतराम के साथ तैयार करते है। बरेली हज सेवा समिति के मीडिया प्रभारी हाजी साकिब रज़ा खाँ ने बताया कि हजयात्रा पर जाने वाले आजमीन इस बार अपने साथ टूथपेस्ट और टूथपाउडर नहीं ले जा सकेंगे । पहले तमाम हजयात्री अपने साथ टूथपेस्ट या टूथपाउडर ले जाते थे। इस पर सउदी अरब की सरकार ने इस पर पूरी तरह रोक लगा दी है। वही हज पर किसी तरह का तंबाकू उत्पात भी साथ नही ले जा पाऐगें। सेंट्रल हज कमेटी का आदेश मिलने के बाद बरेली हज सेवा समिति ने कैंप में आजमीनों को जागरूक करना शुरू कर दिया था। समिति द्वारा हजयात्रा की ट्रेनिंग के दौरान भी आजमीनों को इस बारे में बताया गया हैं। वही कल से हज सफर शुरू हो रहा है, 14 से 29 जुलाई तक हज यात्रियों की फ्लाइट मदीना शरीफ़ पहुँचेगी।बरेली हज सेवा समिति के संस्थापक पम्मी खाँ वारसी ने कहा कि 22 जुलाई को बरेली हज सेवा समिति द्वारा हज यात्रियों का रुखसती इस्तक़बालिया प्रोग्राम बरेली जंक्शन पर आयोजित किया जाएगा। 14 से 29 जुलाई तक हज सेवा की टीम जंक्शन पर हर दिन आज़मीने हज का इस्तक़बाल करेगी। बरेली के ज्यादातर हजयात्री 20 से 24 जुलाई को जाएंगे। 21 जुलाई को बरेली हज सेवा समिति के अध्यक्ष पूर्वमंत्री अताउर्रहमान हज के सफ़र पर निकलेगे उनका रुखसती इस्तक़बाल 21 जुलाई को बरेली में किया जाएगा।

पिछले दिनों आयोजित स्पेशल कैम्प में कुछ आज़मीन नही पहुँच सकें थे तो आज एसीएमओ डॉ आलोक चन्द्रा ने हज यात्रियों को ड्राप पिलाकर हज की मुबारकबाद दी। टीकाकरण प्रभारी डॉ डीपी सिंह ने टीका लगाकर मेडिकल सर्टिफिकेट जारी किये। ज़िला अस्पताल कैम्प में फरीदपुर और बहेड़ी के हजयात्री पहुँचे थे। इस मौके पर सहयोग करने वालो में हाजी अब्दुल लतीफ कुरैशी, हाजी यासीन कुरैशी, इरशाद अहमद, निहाल खान, शाहिद रज़ा नूरी, बाबू राम शर्मा, नरसिंह यादव, अकबर हुसैन, हाजी उवैस खान, मोहसिन इरशाद आदि शामिल रहे।

बरेली में टीका लगवाते आज़मीने हज, साथ मे हैं बरेली हज सेवा समिति के संस्थापक पम्मी खां वारसी (वाएँ)

Related posts

Leave a Comment