लव लाइन बताती है प्यार के बारे में

न्यूज़ डेस्क | हाथों की हथेली में हृदय रेखा दिल से जुड़ी भावनाओं के विषय में बताती है. कहा जाता है कि किसी भी हथेली में हृदय रेखा तर्जनी अंगुली (इंडेक्स फिंगर) या मध्यमा (मीडिल फिंगर) से शुरू होकर छोटी अंगुली कनिष्ठा (लिटिल फिंगर) के नीचे तक जाती है. हस्तरेखा शास्त्र में इसे देखकर कई बातें सामने आती है. इनसे प्यार और जीवन साथी के बारे में जाना जा सकता है.

 जिन लोगों के हाथ में हृदय रेखा तर्जनी अंगुली (पहली अंगुली) और मध्यमा (बीच वाली उंगली) के बीच से शुरू होती है वो लोग स्वभाव के सच्चे और शांत होते हैं.

 यदि ह्रदय रेखा(लव लाइन) एक छोर से शुरु होकर दूूसरे छोर तक जाए तो इंसान का स्वभाव वर्तमान में जीने वाला और काल्पनिक दुनिया से दूर होता है. ऐसे लोग स्वभाव से भावुक व जलन करने वाले भी हो सकते हैं.

यह रेखा यदि छोटी हो और मध्यमा (बीच वाली उंगली) से शुरू होकर अनामिका (रिंग फिंगर) के नीचे वाले हिस्से पर खत्म हो जाए तो प्रेम में वासना होती है और व्यक्ति पूरी तरह से स्वार्थी व्यवहार का हो सकता है.

यदि यह रेखा लाल और अधिक गहरा है तो आप स्वभाव से तेज हो सकते हैं और किसी बुरी आदत के आदि भी हो सकते हैं.

ह्रदय रेखा का बीच में टूटना, प्रेम संबंधो में बिखराव होने की तरफ इशारा करता है.

दो हृदय रेखा हो और उनमें किसी भी प्रकार का दोष न हो तो बुद्धि सात्विक होती है.

हृदय रेखा पतली हो, गहरी न हो और होकर हल्की हो तो स्वभाव में रुखापन होता है.

यदि लव लाइन पहली उंगली यानी इंडेक्स फिंगर के नीचे से शुरू हो तो यह दृढ़ निश्चयी और आदर्शवादी होने का संकेत है.

और यदि लव लाइन पहली अंगुली के ठीक नीचे से शुरू हो तो ये मानसिक रुप से परेशानी का इशारा है.

Leave a Comment