वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर सतपाल सिंह बने इमर्जिंग फोटोग्राफर ऑफ़ द ईयर

चार बार के नेचर्स बेस्ट एशिया अवार्ड्स के विजेता वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर सतपाल सिंह लगातार अपनी तस्वीरों से प्रदेश व देश का मान बढ़ा रहे हैं। भारत की अग्रणी फोटोग्राफी पत्रिका बैटर फोटोग्राफी द्वारा आयोजित वाइल्डलाइफ इंडिया फोटोग्राफी अवार्ड्स 2018 में सतपाल सिंह को “इमर्जिंग फोटोग्राफर ऑफ़ द ईयर ऑनरेबल मेंशन” अवार्ड दिया गया है। हर वर्ष वाइल्डलाइफ फोटोग्राफी के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ कार्य करने वाले फोटोग्राफर्स को वाइल्डलाइफ इंडिया फोटोग्राफी अवार्ड्स के लिए चुना जाता है। इस वर्ष दो वर्गों में भारत से कुल 17 फोटोग्राफर्स व उत्तर प्रदेश से एकलौते फोटोग्राफर सतपाल सिंह को चुना गया।  जिसमे इमर्जिंग फोटोग्राफर ऑफ़ द ईयर वर्ग में केटेगरी विनर मुंबई के सारंग नाइक सहित 8 युवा फोटोग्राफर्स को “ऑनरेबल मेंशन” अवार्ड्स से नवाजा गया जिसमे उत्तर प्रदेश के एकलौते फोटोग्राफर सतपाल सिंह रहे।


  • बैटर फोटोग्राफी द्वारा हर वर्ष होता है श्रेष्ठ फोटोग्राफर्स का चुनाव

  • इस वर्ष भारत से 17 श्रेष्ठ वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर्स को दिए गए अवार्ड्स

  • उत्तर प्रदेश से एकलौते फोटोग्राफर सतपाल सिंह को चुना गया 

  • अबतक मिल चुके हैं 22 अंतर्राष्ट्रीय व् 42 राष्ट्रीय फोटोग्राफी अवार्ड्स


विजेताओं की घोषणा बैटर फोटोग्राफी पत्रिका के जुलाई अंक में की गयी है। जिसमे सभी पुरस्कृत फोटोग्राफर्स के द्वारा खींची गयी तस्वीरों को भी प्रकाशित किया गया है। बैटर फोटोग्राफी भारत की सबसे अधिक पढ़ी जाने वाली फोटोग्राफी पत्रिका है, जिसे भारत सहित आसपास के दूसरे देशों में भी कला प्रेमी पढ़ते है। सतपाल सिंह ने बताया की उनकी खींची जिस तस्वीर को पत्रिका ने जुलाई अंक में छापा है वह उन्होंने अपने खेतों में ही खींची थी। सतपाल कहते हैं की यह तस्वीर मकड़ी के जाले में फसे एक टिड्डे की कहानी है जिसे उन्होंने स्लो शटर स्पीड से क्लिक किया था जिससे तस्वीर बिलकुल पेंटिंग परतीत होती है। इस तस्वीर की खूबी यह है की इसमें टिड्डा मकड़ी के जाले से छूटने का प्रयास कर रहा है और उसी घटना को सतपाल ने स्लो मोशन में दिखाने का सफल प्रयास किया है।

अलीनगर गांव के किसान जसवंत सिंह के पुत्र सतपाल सिंह अपना यह पुरस्कार अपने दादा सरदार मोहर सिंह को समर्पित करते हुए बताते हैं की आज वे जो भी बेहतर कर पाने में सफल हुए हैं उसमे उन्हें अपने दादा से मिली प्रेरणा व् परिवार से मिले सहयोग की बड़ी भूमिका रही हैं।  सतपाल सिंह एक लम्बे समय से कमरे के माध्यम से समाज में प्रकृति व पर्यावरण को लेकर जागरूकता फैला रहे हैं। फोटोग्राफी के अतिरिक्त सतपाल गोमती बचाओ अभियान में भी कार्य कर रहे हैं। और समय समय पर फोटोग्राफी की कार्यशालाएं भी आयोजित करते हैं जिसमे युवाओं को फोटोग्राफी सिखाना व् प्रकृति व् पर्यावरण के नजदीक लाने का कार्य भी सतपाल सिंह कर रहे हैं। पैनासोनिक कैमरा के अम्बेसडर सतपाल सिंह अब तक भारत समेत अमेरिका, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, फ़्रांस, जापान, ग्रीस, सिंगापुर, रूस, मलेशिआ आदि देशों में करीब 65 राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार जीतकर कई बार प्रदेश व देश का मान बढ़ा चुके हैं।

‘बैटर फोटोग्राफी’ पत्रिका में छपी सतपाल सिंह की एक तस्वीर

Related posts

Leave a Comment