जानलेवा बुखार से निजात के लिये मस्जिदों में की गयी विशेष दुआ

बरेली : बरसात के मौसम में शहर व गांवों में तेज़ी से फैल रहे जानलेवा बुखार से निजात पाने और बीमारों के जल्द ठीक होने के लिए आज जुमे की नामाज़ के बाद विशेष दुआ की गयी. गौरतलब है कि खतरनाक बुख़ार की वजह से कई मौते हो चुकी हैं. जुमा की नमाज़ के बाद शहर की मस्जिदों और दरगाहों पर खुसूसी दुआ की गई. दरगाह नासिर मियां, मस्जिद नोमहला, कोतवाली की मोती मस्जिद, खननु मस्जिद, दादा मियां, मस्जिद मुफ़्ती-ए-आज़म हिन्द, नूरी मस्जिद, लाल मस्जिद मलूकपुर, सुभाषनगर की साबरी मस्जिद सहित अनेक मस्जिदों में बुख़ार से निजात के लिये खुसूसी दुआ की गई.

हाफिज चाँद खान, पम्मी वारसी, मौलाना अब्दुल वाकी, कमाल मियां साबरी, सूफ़ी वसीम मियां नासरी, सय्यद फुरकान क़ादरी, मोहसिन इरशाद, दिलशाद साबरी, अतीक साबरी, सूफ़ी रिज़वान, हाजी यासीन क़ुरैशी,फहीम साबरी,महमूद साबरी, मो हनीफ़, शाहिद रज़ा नूरी, अनीस पेंटर,मो रियाज़, हाजी साकिब रज़ा खान, हाजी ताहिर, हाजी अब्दुल लतीफ़ क़ुरैशी, मो अखलाक, नईम अहमद, सलमान अली खां, मिर्ज़ा शादाब बेग, रिज़वान साबरी आदि ने दुआ की।

स्वास्थ्य विभाग चलाये जागरूकता अभियान

जनसेवा टीम के अध्यक्ष पम्मी खाँ वारसी ने कहा कि जानलेवा बुख़ार के लिये इबादतगाहो में दुआ हो रही है तो स्वास्थ्य विभाग को भी बुख़ार के लिये जनजागरूकता अभियान चलाना चाहिये ताकि लोग बुख़ार की चमेट में आने से एहतियात बरत सकें.

Related posts