वकीलों ने लगाए डीएम पर भ्रष्टाचार के आरोप, कार्यवाही न होने पर कर दी हड़ताल

  • विनय सक्सेना

पीलीभीत। सेंट्रल बार एसोसिएशन ने जिलाधिकारी डॉ अखिलेश कुमार मिश्रा पर भ्रष्टाचार के आरोप लगते हुए न्यायिक कार्यों से विरत रहे। गुस्साए वकीलों ने जिलाधिकारी के खिलाफ जमकर नारेबाज़ी की।


पीलीभीत ज़िले में जब से डॉ अखिलेश मिश्रा जिलाधिकारी बनकर आये हैं तब से भ्रष्टाचार अपनी चरम सीमा पार कर चुका है। जिलाधिकारी प्राइवेट कर्मियों से डील करवाते हैं। बिना रिश्वत के कोई काम नही हो रहा है। ऐसे जिलाधिकारी को हमारे ज़िले में रहने का कोई हक नही है।

-किशन लाल एडवोकेट, अध्यक्ष, ज़िला संयुक्त बार एसोसिएशन, पीलीभीत


गौरतलब है कि डीएम पर अधिवक्ताओं ने भ्रष्टाचार में लिप्त होने के गंभीर आरोप लगाते हुए पिछले पांच दिनों से ज़िला मजिस्ट्रेट न्यायालय का वहिष्कार कर रखा है। शासन द्वारा डीएम के खिलाफ कोई कार्यवाही न करने पर वकीलों का गुस्सा फूट पड़ा। आज वकीलों ने एकजुट होकर न्यायिक कार्यों का वहिष्कार कर दिया तथा नारेबाज़ी करते हुए सड़क पर उतर आए और डीएम के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। वकीलों की इस हड़ताल से दूर दराज से आने वाले फरियादियों को कठिनाईयों का सामना करना पड़ा और वे मायूस होकर वापस लौट गए।

Related posts