इंदिरा गांधी पर दिये बयान को राउत ने लिया वापस

शिवसेना के राज्यसभा सांसद और प्रवक्ता संजय राउत ने अपने बयान से राजनीतिक सरगर्मी को बढ़ा दिया है। उन्होंने बैठे बिठाए भाजपा को कांग्रेस पर निशाना साधने का मौका दे दिया था। हालांकि भारी हंगामे के बाद उन्होंने अपना बयान वापस ले लिया है। उनका कहना है कि हमारे कांग्रेस दोस्तों को दुखी होने की जरुरत नहीं है।

राउत ने अपने करीम लाला से मिलने जाती थीं इंदिरा गांधी वाले बयान पर कहा, कांग्रेस में हमारे मित्रों को आहत होने की जरुरत नहीं है। यदि किसी को लगता है मेरे बयान से इंदिरा गांधी की छवि धक्का पहुंचा है या इससे किसी की भावनाएं आहत हुई हैं तो मैं अपना बयान वापस लेता हूं।

संजय राउत ने गुरुवार को सफाई देते हुए कहा कि मुंबई के इतिहास की समझ न रखने वालों ने उनके बयान को तोड़-मरोड़ डाला। राउत के अनुसार, उनके कहने का आशय यह था कि करीम लाला पठान समुदाय के प्रतिनिधि थे और उनकी इसी हैसियत के कारण उनसे पूर्व प्रधानमंत्री की मुलाकात की वजह थी।