स्कूल की चहारदीवारी से उपजे विवाद को सुलझाने पहुँचे एसडीएम

नवाबगंज के रिछोला किफ़ायतुल्ला गांव में सरकारी जमीन पर बनी दीवार से पैदा हुआ विवाद थम नहीं पा रहा है बुधवार को एसडीएम कुमार धर्मेंद्र मौके पर पहुँचे। उन्होंने दीवार और इससे संबंधित सभी रास्तों का निरीक्षण किया। इस दौरान वहां मौजूद ग्रामीणों में दोनों पक्ष के लोगों से बात की।

गांव में पूर्व माध्यमिक स्कूल की चारदीवारी बनाने से विवाद पैदा हो गया। ग्राम पंचायत ने स्कूल की जमीन पर चहार दीवारी बना दी जिससे गली में बने मकानों का रास्ता बंद हो गया था। इस पर राजस्व टीम ने ग्रामीणों को आठ फिट का रास्ता देकर मामला सुलझा दिया । साथ ही तहसील प्रशासन ने खलियान की जमीन पर एक नया रास्ता बनाकर दूसरे समुदाय की ओर निकाल दिया । इससे दूसरे समुदाय के लोगों में भारी गुस्सा है । जबकि एक समुदाय जिनके इसी रास्ते पर मकान हैं उनका कहना है वे वर्षों से इसी रास्ते से निकल रहे हैं । रास्ते बंद हो जाने से हमारे बच्चों को काफी लंबा रास्ता तय करना पड़ेगा।

जब ये दीवार बनना शुरू हुई थी तो प्रधान पक्ष और ग्रामीणों के बीच जमकर मारपीट भी हुई थी। जिसमें दोनों पक्ष के लोग घायल भी हो गए थे और दोनों पक्ष की तरफ से कानूनी कार्रवाई भी हुई, जिसके बाद जिलाधिकारी के आदेशानुसार पुलिस की मौजूदगी में इस रास्ते का निर्माण ग्राम प्रधान ने शुरू करा दिया था। पिछले दिनों दूसरे समुदाय के लोगों ने रास्ते को लेकर आपत्ति की और अपनी गुहार लगाने क्षेत्रीय विधायक के पास पहुँचकर अपनी बात कही। विधायक ने उनकी बात सुनकर डीएम और नवाबगंज के एसडीएम को जांच कर कार्यवाही करने का आदेश दे दिया। उसके बाद ये लोग तहसील पहुँचे और अपना ज्ञापन एसडीएम को सौंप कर उचित कार्यवाही की मांग की। वुधवार को एसडीएम कुमार धर्मेंद्र मौके पर मुआयना करने पहुंचे। वहाँ उन्होंने ग्रामीणों से दोनों पक्षों की बात सुनी और आश्वासन दिया कि जनहित में जो सही होगा उससे जल्द ही समस्या को सुलझाया जाएगा।

तो वही ग्राम प्रधान मोहम्मद सलीम अंसारी का कहना है कि इस स्कूल की बाउंड्री में गांव के कुछ लोग अपनी राजनीति चमकाना चाहते हैं जिस गंदी राजनीति से बच्चों के उज्जवल भविष्य पर काफी फर्क पड़ सकता है